अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आय सीमा में संशोधन | Revision of income limit for OBCs

Image Loading
Image Loading
Image Loading
Image Loading

Revision of income limit for OBCs | अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आय सीमा में संशोधन किए जाने के संबंध में नियम

कार्मिक लोक शिकायत तथा पेंशन मंत्रालय, भारत सरकार के कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के कार्यालय ज्ञापन दिनांक 13 सितम्बर, 2017 के द्वारा अन्य पिछड़े वर्गों (अ.पि.व.) के लिए आरक्षण के दायरे से सामाजिक रूप से उन्नत व्यक्तियों/वर्गों (क्रीमी लेयर) को बाहर रखने के लिए आय मापदंड में संशोधन करने सम्बन्धी नियम जारी किये गए है।

सम्बन्धित विभाग के कार्यालय ज्ञापन संख्या 36012/22/93-स्था. (एससीटी) दिनांक 8 सितम्बर, 1993 का सन्दर्भ लिया जा सकता है जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ प्रावधान किया गया है कि लगातार तीन वर्षों तक 1 लाख रु. या इससे अधिक की सकल वार्षिक आय वाले व्यक्तियों के पुत्र एवं पुत्रियां क्रीमी लेयर के अंतर्गत आएंगे और वे अन्य पिछड़े वर्गों के लिए उपलब्ध आरक्षण का लाभ प्राप्त करने के हकदार नहीं होंगे।

ये देखें :  वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान वेतन से आयकर की कटौती | Deduction of income tax from salary during the financial year 2020-21

क्रीमी लेयर की स्थिति का निर्धारण करने की उपरोक्त आय सीमा इस विभाग के कार्यालय ज्ञापन संख्या 36033/3/2004-स्था.(आर.) दिनांक 09.03.2004, कार्यालय ज्ञापन संख्या 36033/3/2004-स्था.(आर.) दिनांक 14.10.2008 एवं कार्यालय ज्ञापन संख्या 36033/1/2013-स्था.(आर.) दिनांक 27.05.2013 द्वारा क्रमशः 2.5 लाख रु., 4.5 लाख रु. एवं 6 लाख रु. तक बढ़ाई गई थी।

अब अन्य पिछड़े वर्गों में से क्रीमी लेयर का निर्धारण करने के लिए वार्षिक आय को (income limit for OBC) 6 लाख रु. से बढ़ाकर 8 लाख रु. तक करने का निर्णय लिया गया है। तदनुसार, इस विभाग के दिनांक 8 सितम्बर, 1993 के उपरोक्त कार्यालय ज्ञापन की अनुसूची में श्रेणी VI के अधीन शब्दांश “6 लाख रु.” के स्थान पर “8 लाख रु.” प्रतिस्थापित किया जाएगा।

ये देखें :  सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत सूचना चाहने वालों के लिए दिशानिर्देश | Guidelines for information seeker under RTI Act 2005

इस कार्यालय ज्ञापन के प्रावधान 1 सितम्बर, 2017 से लागू होंगे।

सभी मंत्रालयों/विभागों से अनुरोध है कि इस कार्यालय ज्ञापन की विषय-वस्तु को सभी संबंधितों के ध्यान में लाएँ।

सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए लिंक से उक्त नियम की प्रति प्राप्त कर सकते हैं।


Frequently Asked Questions | FAQs

Can obc creamy layer get age relaxation

No. Any person comes under the creamy layer of OBC would not be entitled to get the benefit of reservation available to the Other Backward Classes.

OBC creamy means? | हिन्दी में ओबीसी क्रीमी लेयर नियम | What is creamy layer in obc?

Sons and daughters of persons having gross annual income as specified above above for a period of three consecutive years would fall within the creamy layer and would not be entitled to get the benefit of reservation available to the Other Backward Classes.

ये देखें :  अर्ध वेतन अवकाश का नकदीकरण | Encashment of half pay leave

Criteria for OBC creamy layer

The income limit, as specified above, is for determining the creamy layer amongst the Other Backward Classes.

OBC in hindi | ओबीसी इन हिंदी

OBC का हिन्दी में अर्थ होता है अन्य पिछड़ा वर्ग जो संबंधित व्यक्ति की श्रेणी को परिभाषित करता है।

Difference between OBC creamy layer and non creamy layer

The income limit as mentioned above is the major difference between OBC creamy layer and non creamy layer.

ओबीसी का फुल फॉर्म | OBC full form

OBC stands for Other Backward Classes which defines a category of the related person.

Leave a Reply