शिशु देखभाल अवकाश संशोधित नियम | Child care leave rules amendment

Image Loading
Image Loading
Image Loading
Image Loading

Child care leave rules amendment | शिशु देखभाल अवकाश में संशोधन सम्बन्धी नियम

कार्मिक लोक शिकायत तथा पेंशन मंत्रालय, भारत सरकार के कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के कार्यालय ज्ञापन दिनांक 30 अगस्त, 2019 के अनुसार सरकार ने 7वें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है और अधिसूचना दिनांक 11.12.2018 के माध्यम से इसे लागू किया है। यह अधिसूचना सम्बन्धित विभाग की वेबसाइट पर भी अपलोड कर दी गई है। हालांकि, इस संबंध में अधिसूचना जारी होने के बावजूद, कुछ कर्मचारी उपरोक्त अधिसूचना के माध्यम से किए गए संशोधनों के संबंध में औपचारिक और अनौपचारिक स्पष्टीकरण मांग रहे हैं।

ये देखें :  वित्तीय वर्ष 2022-23 में कंप्यूटर अग्रिम पर ब्याज दर | Interest rate on computer advance in the financial year 2022-23

इन परिस्थितियों को देखते हुए इस कार्यालय ज्ञापन के पैरा 3 में केंद्रीय सिविल सेवा (अवकाश) नियमावली, 1972 के अंतर्गत स्वीकृत किये जाने वाले शिशु देखभाल अवकाश (Child care leave) से संबंधित नियम 43-सी में संशोधन के साथ निम्नलिखित परिवर्तन किए गए हैं।

(अ) शिशु देखभाल अवकाश (Child care leave) को 100% वेतन पर पहले 365 दिनों के लिए और 80% वेतन पर अगले 365 दिनों के लिए स्वीकृत किया जा सकता है।

(ब) एकल पुरुष अभिभावक को भी शिशु देखभाल अवकाश (Child care leave) स्वीकृत किया जा सकता है जो अविवाहित या विधुर या तलाकशुदा कर्मचारी हो।

(स) एकल महिला सरकारी सेवकों के लिए, एक कैलेंडर वर्ष में छह बार शिशु देखभाल अवकाश की अनुमति दी जा सकती है। हालांकि, अन्य पात्र सरकारी कर्मचारियों के लिए, यह एक कैलेंडर वर्ष में अधिकतम 3 बार के लिए दिया जाता रहेगा।

ये देखें :  सेवानिवृत्ति पर यात्रा भत्ता प्रस्तुत करने की समय-सीमा | TA on retirement time-limit

सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए लिंक से उक्त नियम की प्रति प्राप्त कर सकते हैं।


  • शिशु देखभाल अवकाश क्या केवल महिला कर्मचारियों के लिए है? पुरुष कर्मचारी इसे ले सकते हैं या नहीं?

    केवल उन्हीं पुरुष कर्मचारी को शिशु देखभाल अवकाश (Child care leave) स्वीकृत किया जा सकता है जो अविवाहित या विधुर या तलाकशुदा कर्मचारी हो।

Leave a Reply