संवेदनशील पदों पर केंद्रीय सतर्कता आयोग के दिशा-निर्देश | CVC guidelines on sensitive posts

Image Loading
Image Loading
Image Loading
Image Loading

CVC guidelines on sensitive posts | संवेदनशील पदों पर कार्यरत कर्मचारियों का रोटेशनल स्थानांतरण सम्बन्धी दिशा-निर्देश

केंद्रीय सतर्कता आयोग, भारत सरकार के कार्यालय ज्ञापन दिनांक 23 अगस्त, 2018 के द्वारा परिपत्र संख्या 03/09/13 दिनांक 11 सितम्बर, 2013 और जारी किए गए अन्य संबंधित परिपत्रों के माध्यम से जारी किए गए दिशा-निर्देशों की पुनरावृत्ति में, आयोग ने पत्र संख्या 18/विविध/02/378043 दिनांक 01.05.2018 के माध्यम से सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को सलाह देते हुए एक कार्यालय ज्ञापन जारी किया था और पत्र सं. 18/Misc/02/378044 दिनांक 01.05.2018 द्वारा सभी सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों को संवेदनशील पदों पर उन अधिकारियों के संबंध में बारी-बारी से स्थानांतरण करने की सलाह देता है जो 3 साल से अधिक समय तक कार्यरत हैं और 3 महीने के भीतर अनुपालन रिपोर्ट भी करें।

ये देखें :  प्रशासन तथा सांसदों और राज्यों के विधान मंडलों के सदस्यों के बीच सरकारी काम-काज की उचित कार्य विधि | Official dealings between the Administration and Members of parliament and State Legislatures

2. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के साथ-साथ अन्य संगठनों में हुई धोखाधड़ी के विश्लेषण से पता चलता है कि इस तरह की धोखाधड़ी के कारणों में से एक रोटेशनल पॉलिसी का कार्यान्वयन नहीं करना था।

3. यह एक बार फिर से दोहराया जाता है कि संवेदनशील सीटों/पदों से 3 वर्ष से अधिक समय तक कार्यरत रहने वाले अधिकारियों के बारी-बारी से स्थानांतरण किए जाएं। यह स्पष्ट किया जाता है कि आयोग की सलाह संवेदनशील सीट/पोस्ट से बदलाव के लिए है, न कि स्टेशन से, जो कि संबंधित संगठनों की नीति द्वारा शासित होना है।

4. सभी विभागों/संगठनों के प्रमुखों/सीवीओ से अनुरोध है कि वे अपने-अपने संगठनों में रोटेशनल नीति को सख्ती से लागू करना सुनिश्चित करें। सीवीओ अपनी तिमाही रिपोर्ट में इस संबंध में अनुपालन पर रिपोर्ट कर सकते हैं।

5. इसे आयोग के अनुमोदन से जारी किया जाता है।

ये देखें :  संतान शिक्षा भत्ता एवं छात्रावास परिदान प्रदान करने सम्बन्धी नए नियम | Children Education Allowance and hostel Subsidy rules

सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए लिंक से उक्त नियम की प्रति प्राप्त कर सकते हैं।


Leave a Reply